Swayam sahayata samuh ke 5 labh । स्वयं सहायता समूह के पांच लाभ

राष्ट्रीय आजीविका मिशन भारत सरकार nrlm द्वारा संचालित परियोजना स्वयं सहायता समूह महिलाओंके लिए अत्यंत लाभकारी योजनाओं में से एक है। आइए जानते हैं स्वयं सहायता समूह से जुड़े हुए महिलाएं किस प्रकार लाभ प्राप्त कर सकती हैं। स्वयं सहायता समूह से जुड़ने के अनेक लाभ हैं।

Swayam sahayata samuh kya hai। स्वयं सहायता समूह क्या है।?

भारत में महिलाओं को आर्थिक रूप से सशक्त बनाने के लिए भारत सरकार ने स्वयं सहायता समूह योजना का प्रारंभ किया। यह योजना प्रारंभ में राष्ट्रीय आजीविका मिशन के नाम से परिचालित किए गए गई । इस योजना में स्वयं सहायता समूह बनाए जाते हैं। ग्रामीण क्षेत्र की रहने वाली महिलाएं एक समूह बनाकर इस योजना का लाभ ले सकते हैं। समूह में गांव की 10 से 12 महिलाएं जुड़कर प्रत्येक सप्ताह मीटिंग करती हैं। इस मीटिंग को बैठक भी कहा जाता है। इस बैठक में महिलाओं को प्रत्येक सप्ताह बचत के धन को जमा करना होता है जैसे कि ₹10 या ₹20। इस बचत किए गए धन को समूह की महिलाओं द्वारा बैंक खाते में जमा किया जाता है।

स्वयं सहायता समूह के पांच लाभ। swayam sahayata samuh।

स्वयं सहायता समूह से जुड़ी हुई महिलाओं को समूह से जुड़े हुए सभी जानकारियों के बारे में पता होना चाहिए। इसके साथ ही यह भी पता होना चाहिए कि समूह से जुड़े होने का लाभ क्या है। भारत सरकार ने स्वयं सहायता समूह योजना का प्रारंभ ग्रामीण क्षेत्र की महिलाओं को आर्थिक स्थिति को देखते हुए बनाया किया था। आइए जानते हैं स्वयं सहायता समूह से जुड़ने के पांच लाभ के बारे में।

  • स्वयं सहायता समूह से जुड़ने का सबसे पहला लाभ यह है कि स्वयं सहायता समूह से जुड़ी महिलाओं के अंदर पैसों के बचत करने की आदत को विकसित करना एवं उनके अंदर रोजगार उत्पन्न करने के अवसर प्रदान करना है।
  • स्वयं सहायता समूह से से जुड़ने का दूसरा लाभ यह है कि महिलाओं में अपनी नारी शक्ति को लेकर जागरूकता उत्पन्न होती है।
  • स्वयं सहायता समूह से जुड़ने का तीसरा सबसे बड़ा लाभ यह है कि स्वयं सहायता समूह से जुड़ी हुई महिलाओं को भारत सरकार द्वारा अनेक प्रकार की नौकरियां दी जाती हैं जैसे कि समूह सखी बैंक सखी इत्यादि।
  • स्वयं सहायता समूह से जुड़ी हुई महिलाओं को भारत सरकार द्वारा 2% की ब्याज दर पर रोजगार प्राप्त करने के लिए लोन दिया जाता है।
  • स्वयं सहायता समूह से जुड़े रहने का मुख्य लाभ यह भी है कि भारत सरकार नारी सशक्तिकरण को बढ़ावा दे रही है। ऐसे में जितने अवसर और योजनाओं के लाभ स्वयं सहायता समूह से जुड़ी महिलाओं को प्रदान किए जाएंगे उतनी सामान्य महिलाओं को प्रदान नहीं किए जाएंगे।

निष्कर्ष: 

स्वयं सहायता समूह से जुड़ी हुई महिलाओं को भारत सरकार द्वारा अनेक प्रकार के लाभ दिए जाते हैं ऐसे में यदि आप स्वयं सहायता समूह से अभी तक नहीं जुड़ी हैं तो आपको स्वयं सहायता समूह से जुड़ जाना चाहिए क्योंकि भारत सरकार समय-समय पर महिला सशक्तिकरण के नाम पर स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को ही सबसे पहले लाभ प्रदान करती है।

Leave a comment