swayam sahayata samuh की महिलाएं किसी भी समस्या के लिए यहां दर्ज करें शिकायत।

 अगर आप स्वयं सहायता समूह चलाते हैं। स्वयं सहायता समूह चलाते हुए अगर आपको किसी भी अधिकारी अथवा राष्ट्रीय आजीविका मिशन से जुड़े किसी भी कर्मचारी की शिकायत मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी के पास करनी है तो नीचे हम आपको दो तरीके बता रहे हैं। जिसके माध्यम से आप स्वयं सहायता समूह से जुड़ी कोई भी शिकायत दर्ज करा सकते हैं।

shg
Swayam sahayata samuh

स्वयं सहायता समूह की महिलाएं शिकायत कहां करें।

राष्ट्रीय आजीविका मिशन भारत सरकार द्वारा चल रहे swayam sahayata samuh अनेक कार्य ऐसे होते हैं जिनको करने के लिए कई बार आपको अधिकारियों के दफ्तर के चक्कर काटने पड़ जाते हैं फिर भी आपका कार्य नहीं होता है। इसके अलावा आपसे घोष भी मांगी जाती है। इसके लिए आप मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी के पास शिकायत दर्ज करवा सकती हैं जहां से आप की समस्या पर 7 दिनों में कार्यवाही की जाती है।अगर आप इस भ्रष्टाचार से बचना चाहती हैं और संबंधित अधिकारी की शिकायत दर्ज करवाना चाहते हैं तो नीचे दिए गए आर्टिकल को ध्यान से पढ़ें।

up cm योगी आदित्यनाथ जी के पास शिकायत दर्ज कराने का पहला और आसान तरीका।

उत्तर प्रदेश का कोई भी व्यक्ति यदि शोषण भ्रष्टाचार या भू माफिया जैसे दबंगों से पीड़ित है तो सबसे पहले यदि आपके पास मोबाइल फोन है तो उसमें जाकर डायल कीजिए 1076कुछ देर के बाद मुख्यमंत्री सहायता केंद्र में बैठे हुए telecoler आपसे संपर्क करेंगे और आपकी समस्या के विषय में मुख्यमंत्री सहायता केंद्र में आपकी शिकायत दर्ज करेंगे। इसके बाद 7 दिनों के अंदर इस समस्या का समाधान हो जाएगा।

Yogi adityanath जी के पास सीधे समस्या शिकायत दर्ज करने का दूसरा तरीका।

यदि आप किसी भी प्रकार के शोषण घूसखोरी जैसी समस्या से पीड़ित हैं तो आप उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ द्वारा चलाए जा रहे ऑनलाइन पोर्टल jansunwayi पर जाकर ऑनलाइन शिकायत दर्ज करवा सकते हैं। यदि आप वहां जाकर अपनी शिकायत दर्ज करवाते हैं। तो 7 दिन के अंदर अंदर उस समस्या का निस्तारण संबंधित अधिकारी द्वारा किया जाता है। यदि फिर भी आप उससे संतुष्ट नहीं है तो दोबारा आप समस्या के निस्तारण हेतु शिकायत दर्ज करवा सकते हैं।http://jansunwai.up.nic.in
इस लिंक पर जाकर सबसे पहले आपको एक अकाउंट बनाना होगा। जिसके लिए आपको अपना मोबाइल नंबर और ईमेल जरूरी होगा। इसके बाद आप अपनी समस्या को संबंधित विभाग पर दर्ज करवाकर उसका निस्तारण पा सकते हैं।

Leave a comment