स्वयं सहायता समूह में नौकरी | swayam sahayata samuh job

स्वयं सहायता समूह में नौकरी | swayam sahayata samuh job

स्वयं सहायता समूह में नौकरी । Job in swayam sahayata samuh।

उत्तर प्रदेश सरकार ने swayan sahayata samuh से जुड़ी महिलाओं को रोजगार से जुड़ने के लिए उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद व कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय के बच्चों को मिलने वाली ड्रेस की सिलाई का कार्य दिया है।

उत्तर प्रदेश में राष्ट्रीय आजीविका मिशन के तहत स्वयं सहायता समूह से जुड़ी ग्रामीण व शहरी क्षेत्र की महिलाओं को मिशन रोजगार के तहत स्कूली बच्चों की ड्रेस के सिलाई का कार्य रोजगार के तहत दिया गया है।

कोविड-19 संकट के कारण अभी तक इस पर कोई नई दिशा निर्देश जारी नहीं हुई है। लेकिन जैसे ही बच्चों की स्कूली ड्रेस का सिलाई का कार्य प्रारंभ होगा। सेंड सहायता समूह की महिलाओं को इससे अवगत कराया जाएगा। जो स्वयं सहायता समूह रोजगार के लिए आवेदन करेंगे स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को यह कार्य दिया जाएगा।

स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को कैसे मिलेगा सिलाई का कार्य?। How get job in swayam sahayata samuh।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी ने कोविड-19 संकट से पहले mission rojgar के तहत स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को रोजगार देने के लिए उत्तर प्रदेश में बांटी जा रही स्कूली ड्रेस की सिलाई का कॉन्ट्रैक्ट ऐसे स्वयं सहायता समूह को देने को कहा था जो लगभग 4 साल या न्यूनतम एक से डेढ़ वर्ष पुराने हैं

 उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी ने यह भी कहा था कि जो स्वयं सहायता समूह स्वयं सहायता समूह के नियमों एवं दिशा निर्देशों का पालन करते हैं और जिनके रजिस्टर और स्वयं सहायता समूह के सदस्यों पूरी जानकारी और साप्ताहिक बचत का पूरा ब्यौरा उपलब्ध होगा। स्वयं सहायता समूह पूरी तरह सक्रिय होगा उसी स्वयं सहायता समूह को यह सिलाई का कॉन्ट्रैक्ट दिया जाएगा।

स्वयं सहायता समूह को कैसे मिलेगा लाभ?। 

 उत्तर प्रदेश सरकार ने राष्ट्रीय आजीविका मिशन के तहत स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को रोजगार देने के लिए माध्यमिक शिक्षा परिषद कस्तूरबा गांधी विद्यालयों में पढ़ रहे बच्चों को मिलने वाली स्कूल की ड्रेस की सिलाई का कॉन्ट्रैक्ट देने को कहा था। लेकिन कोविड-19 संकट की वजह से अभी तक इस पर कोई दिशा निर्देश जारी नहीं किए गए।

उत्तर प्रदेश स्वयं सहायता समूह से जुड़ी महिलाएं जैसे ही इस कार्य के लिए वित्तीय टेंडर पास हो अपना टेंडर भरकर कार्य को ले सकती हैं और स्वयं सहायता समूह ऋण के जरिए कच्चा माल बाजार से लेकर अपने घर पर ही ड्रेस सिलाई का कार्य प्रारंभ कर सकती है।

Leave a comment